Log In

 

Company Name : XPRIZE

Friday, November 17, 2017 6:45PM IST (1:15PM GMT)

21 सेमीफाइ‍नलिस्‍ट टीमें 1 मिलियन डॉलर अनु एवं नवीन जैन वीमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज में पहुंची


दुनिया भर की टीमें महिलाओं की सुरक्षा हेतु तकनीकी समाधानों का विकास करने के लिए मुकाबला करेंगी


Los Angeles, United States

एक्‍सप्राइज, मानवीयता की बड़ी चुनौतियों को हल करने के लिए इंसेंटिव प्रतियोगिताओं को तैयार करने में वैश्विक अग्रणी, ने आज घोषणा की है कि 21 टीमें 1 मिलियन डॉलर अनु एवं नवीन जैन वुमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज में जा रही हैं। यह दुनिया भर के प्रतिस्‍पर्धियों को सुलभ एवं किफायती सुरक्षा समाधानों के निर्माण में तकनीक का लाभ उठाने की चुनौती देता है। यह समाधान महिलाओं के खिलाफ हिंसा एवं उत्‍पीड़न से निपटने में मदद करते हैं।
 
यह प्रतियोगिता विविध प्रकार की वैश्विक टीमों को एक किफायती, व्‍यवहारिक उपकरण बनाने की चुनौती देती है जोकि महिलाओं को खतरों के प्रति तेजी से प्रतिक्रिया देने की क्षमता प्रदान करती हो। इसमें अनेक क्रॉस-कंट्री सहयोग भी शामिल हैं। इस समाधान को अपने आप और अविशिष्‍ट ढंग से इमरजेंसी अलर्ट ट्रिगर करना चाहिये और जानकारी को कम्‍यूनिटी रिस्‍पांडर्स के नेटवर्क को भेजना चाहिये। यह सब 90 सेकंड के अंदर होना चाहिये। उत्‍पाद को सर्वाधिक अनुकूलन सामर्थ्‍य प्रदान करने में मदद के लिए, विजेता तकनीक का खर्च 40 डॉलर से अधिक नहीं होना चाहिये।
 
एक्‍सप्राइज, अनु और नवीन जैन ने वीमेन्‍स सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज की परिकल्‍पना एवं शुभारंभ किया। यह विकसित एवं उभरते देशों में महिलाओं द्वारा झेले जा रहे उत्‍पीड़न और मार-पीट के लगातार बढ़ रहे मामलों के खिलाफ प्रतिक्रियास्‍वरूप लाया गया है।
 
अनु जैन, परोपकारी और वीमेन्‍स सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज के लिए चैंपियन ने कहा, “संयुक्‍त राष्‍ट्र से मिले आंकड़ों के अनुसार, संयुक्‍त राष्‍ट्र में तीन में से एक महिला को उसके जीवन में कभी न कभी शारीरिक या यौन हिंसा का सामना करना पड़ता है। पांच में से एक महिला कॉलेज परिसर में उत्‍पीड़न की शिकार होती है। फिर भी 90 प्रतिशत पीड़ित मामले को दर्ज नहीं कराते। हमने महिलाओं के खिलाफ उत्‍पीड़न को रोकने के लिए इस पहल को शुरू किया है और उन्‍हें उनके सपने पूरे करने में सशक्‍त बनाना चाहते हैं।”
 
सेमीफाइ‍नलिस्‍टों का चयन अक्‍टूबर 2016 में संयुक्‍त राष्‍ट्र दिवस समारोह के दौरान एक्‍सप्राइज की शुरुआती पेशकश के बाद 85 टीमों के क्षेत्र से स्‍वतंत्र निर्णायक दल द्वारा किया गया था। इनमें ऐप्‍प डेवलपर्स, तकनीकी अनुसंधानकर्ता, शैक्षणिक संस्‍थान और स्‍टार्टअप्‍स शामिल हैं जोकि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दुनिया भर में काम कर रहे हैं।
 
परोपकारी और वीमेन्‍स सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज के लिए चैंपियन नवीन जैन ने कहा, “ हमें दुनिया में सबसे प्रतिभाशाली उद्यमी और दूरदृष्‍टा बनने पर अत्‍यंत गर्व है। हम ऐसे उत्‍पाद विकसित कर रहे हैं जो वास्‍तव में महिलाओं को बिना किसी डर के जीने में सक्षम बना रहे हैं।”
 
आगे बढ़ने वाली 21 टीमें इस प्रकार हैं :
  • आर्टेमिस (लॉसैन, स्विट्जरलैंड) – डॉ. नाइस श्रीवास्‍तव और डॉ. कैटरीनाजिसाकी द्वारा प्रवर्तित आर्टेमिस ऐसा उपकरण विकसित कर रही है जो न सिर्फ एक बटन या हाव-भाव के जरिये एलर्ट ट्रिगर कर सकती है बल्कि महिला द्वारा झेले जा रहे भावनात्‍मक खतरे के स्‍तर पर भी आसानी से नजर रख सकती है
  • गार्डिनम (सिएटल, डब्‍लूए, यूनाइटेड स्‍टेट्स)- हारून रशीद द्वारा प्रवर्तित गार्डिनम एक खोजपरक तकनीकी समाधान विकसित कर रही है ताकि विश्‍व को रहने के लिए सुरक्षित स्‍थान बनाया जा सके।
  • हेरा ग्‍लोबल टेक (बेंगलुरू, भारत; पिट्सबर्ग, पीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) - पूर्वी माथुर और एलिजाबेथ लारुए द्वारा प्रवर्तित हेरा ग्‍लोबल टेक महिलाओं की सुरक्षा के लिए एक सहज समाधान बना रहा है। इसमें कोई बैंड नहीं पहनना होगा, न ही बटन दबाना होगा या फोन ढूंढना होगा।
  • आइडिया हाउस (हैदराबाद, भारत) – रामदास कुम्‍बाला द्वारा प्रवर्तित आइडियाहाउस तकनीकी रूप से सुसज्जित उपकरण विकसित कर रहा है जोकि परेशानी में मौजूद उपयोक्‍ता की लोकेशन का पता लगता है और मदद के लिए नजदीकी लोगों को एलर्ट भेज सकता है, उस सूरत में भी जब सिग्‍नल कमजोर हों।
  • जयावियर (रेनो, एनवी, यूनाइटेड स्‍टेट्स) – एलिसन क्लिफ्‍ट-जेनिंग्‍स द्वारा प्रवर्तित जयावियर एक ऐसा उत्‍पाद बना रही है जोकि महिलाओं को तकनीकी आधारभूत संरचना पर उनकी खुद की सुरक्षा बनाने में सक्षम करेंगे, इसमें सामाजिक रुतबे, आय या निभर्रता से कोई फर्क नहीं पड़ता।
  • कृपा (सैन फ्रांसिस्‍को, सीए; सिएटल, डब्‍लूए, यूनाइटेड स्‍टेट्स; नई दिल्‍ली, भारत; वैंकूवर, कनाडा) - कार्तिका पुरुषोत्‍तमन द्वारा प्रवर्तित, कृपा एआइ-पावर्ड वियरेबल बना रही है जोकि हमले की पहचान करने के लिए विविध यूजर-जेनरेटेड और नॉन-यूजर जेनरेटेड सिग्‍नल्‍स का उपयोग करती है और संदेश को सर्वर पर भेजती है जोकि सभी नजदीकी उपयोक्‍ताओं से मदद के लिए कॉल प्रसारित कर सकती है।
  • मैंगोज (टकसन, एजेड, यूनाइटेड स्‍टेट्स) – मार्क हार्डी द्वारा प्रवर्तित मैंगोज एक विद्यार्थी प्रवर्तित पहल है जोकि प्रतिस्‍पर्धा के लिए समाधान विकसित कर रही है।
  • निम्‍ब (लॉस एंजलिस, सीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स, मॉस्‍को, रूस, शेंझेन, चीन) - बेरेसचैंस्‍की द्वारा प्रवर्तित निम्‍ब एक निजी सुरक्षा मंच का निर्माण कर रही है जिसमें सॉफ्‍टवेयर एवं हार्डवेयर शामिल हैं जोकि इमरजेंसी की स्थिति में अंगूठे के छूने मात्र से मदद लोगों को मदद के लिए बुलाने में मदद करते हैं
  • लीफ वियरेबल्‍स का सेफर प्रो (नई दिल्‍ली, भारत) – मणिक मेहता द्वारा प्रवर्तित, लीफ वियरेबल्‍स सेफर प्रो का निर्माण कर रहा है। यह उनके लोकप्रिय स्‍मार्ट सुरक्षा उपकरण का नया एवं बेहतर वर्जन है।
  • सेफ ट्रेक (सेंट लुईस, एमओ, यूनाइटेड स्‍टेट्स) 7 निक ड्रोएगे द्वारा प्रवर्तित सेफ ट्रेक पहला कनेक्‍टेड सेफ्‍टी प्‍लेटफॉर्म शुरु करने के लिए उनके निजी सुरक्षा अनुप्रयोग के आधारभूत ढांचा के शीर्ष पर निर्माण कर रही है। इसमें कोई भी अपने मौजूदा ऐप्‍प और उत्‍पादों को सेफ ट्रेक के सेवाओं से सिंक कर सकता है ताकि किसी भी इमरजेंसी में मदद के लिए नये, दक्ष और उपयोक्‍ता हितैशी विधियों को सक्षम बनाया जा सके।
  • सैफ्रॉन (बेलेवु, डब्‍लूए, यूनाइटेड स्‍टेट्स, सिंघुआ, चीन) – निकोलस बेकर द्वारा प्रवर्तित, सैफ्रॉन ग्‍लोबल इनोवेशन एक्‍सचेंज(जीआइएक्‍स) यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन और सिंघुआ यूनिवर्सिटी के बीच सहयोग है। यह पहनने योग्‍य सेंसर्स और मशीन लर्निंग एल्‍गोरिदम विकसित करने पर केंद्रित है ताकि ऐसी तकनीकों को बनाया जा सके जो दुनिया भर में महिलाओं की सुरक्षा और कल्‍याण में सुधार करती हों।
  • सैंगो (तिरुवनंतपुरम, भारत) – एएम एमिथ द्वारा प्रवर्तित, सैंगो आइओटी उपकरण पर काम कर रही है जिसे आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से एकीकृत किया गया है। यह अपने आप ही खतरे की स्थिति में अलार्म ट्रिगर कर देगा।
  • सिक्‍युरेला (हैम्‍बर्ग, जर्मनी)- वोल्‍फगैंग वॉन गेराम्‍ब द्वारा प्रवर्तित सेक्‍युरेला वन-क्लिक, सहज बटन का निर्माण कर रही है जो ऑटोमेशन तकनीक का इस्‍तेमाल कर तेजी से कई सुरक्षा स्रोतों से जोड़ता है।
  • शानवी (सैन डिएगो, सीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) – देबाशीष साहू द्वारा प्रवर्तित, शानवी नवीनतम तकनीक का प्रयोग कर सेफ्‍टी ट्रिगर्स एवं रिस्‍पांस के लिए एक हार्डवेयर एवं सॉफ्‍टवेयर समाधान विकसित कर रही है।
  • स्‍मार्ट एचएलपी (फ्रेमोंट, सीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) –श्रीधर राव बोल्‍लम द्वारा प्रवर्तित, स्‍मार्ट एचएलपी एक ट्रैकिंग उपकरण विकसित कर रही है जो इमरजेंसी की स्थितियों में महिलाओं की मदद करेगी
  • सोटेरा (बीथलहेम, पीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) - लीना मैकडॉनेल द्वारा प्रवर्तित सोटेरा वैश्विक स्थिति वाली सेवाओं, सेलुलर डेटा और ब्‍लूटूथ के संयोजन का इस्‍तेमाल कर रही है ताकि महिलाओं को इंटरनेट से या इसके बगैर इमरजेंसी सपोर्ट सिस्‍टम्‍स से जोड़ने के लिए एक बहुपयोगी, भरोसेमंद और किफायती नेटवर्क को बनाया जा सके।
  • स्‍त्री रक्षा (कोयंबटूर, भारत)- एम. गोपीकृष्‍णन द्वारा प्रवर्तित, स्‍त्री रक्षा परिवार के सदस्‍यों की एक टीम है जोकि महिलाओं की सुरक्षा के लिए करुणाशील, घुसपैठ न करने वाले पारितंत्र का विकास कर रही है।
  • यूसी3एम4सेफ्‍टी (मैड्रिड, स्‍पेन) – सेलिया लोपेज-ओंगिल द्वारा प्रवर्तित, यूसी3एम4सेफ्‍टी एक पहनने योग्‍य समाधान विकसित कर रही है जोकि फिजियोलॉजिकल सेंसर डेटा, स्‍पीच और ऑडियो विश्‍लेष्‍ण, मशीन लर्निंग एल्‍गोरिदम और मल्‍टीमोडल डेटा फ्‍यूजन के जरिये उपयोक्‍ता के खतरे, डर और तनाव की पहचान करेगा।
  • उल्‍जी (सैन लुईस ऑबिस्‍पो, सीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) - मैक्‍सवेल फोंग, एलन टिमॉन्‍स और मैडिसन वेस द्वारा प्रवर्तित, उल्‍जी एक विशिष्‍ट निजी सुरक्षा फोन अनुप्रयोग है जोकि समुदाय की ताकत का लाभ उठाता है और यौन उत्‍पीड़न को कम करने तथा सुरक्षित समुदाय बनाने पर काम करता है।
  • वियरसेफ (हार्टफोर्ड, सीटी, यूनाइटेड स्‍टेट्स) – डेविड बेनोइट द्वारा प्रवर्तित, वियरसेफ एक सॉफ्‍टवेयर मंच का निर्माण कर रही है जोकि तकनीकी उपकरणों को उपयोक्‍ता के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी जैसे स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी एकत्र कर उसे प्रेषित करने की अनुमति देता है, इससे स्थितिजन्‍य संदर्भ समझने और मदद के लिए सिग्‍नल देने में सहयोग मिलता है।
  • जीनो: पर्सनल क्‍लाउडसोर्स्‍ड बॉडीगार्ड (दुबई, संयुक्‍त अरब अमीरात; जियान चीन; सैन डिएगो, सीए, यूनाइटेड स्‍टेट्स) – अली रहमान द्वारा प्रवर्तित, जेनो दुनिया की पहली क्राउडसोर्स्‍ड महिला सुरक्षा उपकरण विकसित कर रहा है जो पीड़ित की सुरक्षा, निजता और गुमनामी का पता लगाने के लिए है। साथ ही उनके लिए जो दुर्घटना के शिकार हुये हैं। फैशन एसेसरी के रूप में विकसित यह तकनीक हैंड्स-फ्री एसओएस अलर्ट देने में सक्षम है।
सेमीफाइनल में आने वाली टीमों को लागू करने के लिए तैयार प्रोटोटाइप निर्मित करने के लिए अतिरिक्‍त 6 महीने का समय दिया जायेगा। इसके बाद प्रत्‍येक समाधान का परीक्षण अप्रैल 2018 में मुंबई में एक सिमुलेटेड परीक्षण परिवेश में निर्णायक मंडल के समक्ष लाइव किया जायेगा।
 
प्रतिस्‍पर्धी समूह के अलावा, वुमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज ने निर्णायक मंडल की भी घोषणा की है जिसमें सुरक्षा, अभियांत्रिकी और उद्यमिता के क्षेत्र से विविधीकृत विशेषज्ञ शामिल हैं :
  • लॉरेन सी. एंडरसन, अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर सम्‍मानित भूराजनैतिक एवं अंतर्राष्‍ट्रीय सुरक्षा परामर्शदाता, और एफबीआइ के पूर्व प्रतिष्ठित कार्यकारी;
  • जूडी फेंग, एप्‍पल, इंक. में एंटीना इंजीनियरिंग प्रोग्राम मैनेजर;
  • डॉ. श्रुति कपूर, पुरस्‍कार विजेता लैंगिक समानता कार्यकर्ता, अर्थशास्‍त्री, सामाजिक उद्यमी और सेफ्‍टी की संस्‍थापक, एक गैर सरकारी संगठन जोकि भारत की महिलाओं और लड़कियों को हिंसा के खिलाफ शिक्षित कर सशक्‍त बनाता है;
  • निक मैकिन्‍ले, संस्‍थापक एवं कार्यकारी निदेशक,डिलीवर फंड, गैरलाभकारी निजी इंटेलीजेंस संगठन;
  • गियोईया मेसिंगर, संस्‍थापक एवं प्रमुख, लिक्‍डऑब्‍जेक्‍ट्स, इंक. एक तकनीक एवं कारोबारी रणनीति कंपनी, जिसे इंटरनेट ऑफ थिंग्‍स में महारत हासिल है और यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सैन डिएगो में और ऐन्‍टरप्रेन्‍योर-इन-रेजिडेंस है;
  • शलानी प्रकाश, 500 स्‍टार्टअप्‍स में वेंचर साझीदार, जोकि भारत में वैश्विक उपक्रम कैपिटल फर्म के निवेश, पोर्टफोलियो और परिचालन को देखती हैं;
  • टायसन वोएस्‍टे, संस्‍थापक एवं सीईओ, ट्रांसपोर्टेड, वेंचर-फंडेड स्‍टार्ट अप जोकि किसी को भी दुनिया के सबसेरोचक स्‍थानों का वर्चुअल रियलिटी टूर बनाने की अनुमति देती है
मार्कस शिंगल्‍स, मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, एक्‍सप्राइज ने कहा, “हम अनु और नवीन जैन के शुक्रगुजार हैं जिन्‍होंने क्राउडसोर्सिंग का इस्‍तेमाल करने हेतु परोपकारियों के लिए पसंदीदा मंच के तौर पर एक्‍सप्राइज को चुना। इन इंसेंटिव पुरस्‍कारों से दुनिया भर में महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे से निपटने में मदद मिलेगी। वीमेन्‍स सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज से सामने आने वाले समाधानों में महत्‍वपूर्ण खोज की पेशकश करने का सामर्थ्‍य होगा। इससे समुदायों को कहीं भी खोजपरक, बेजोड़ तरीकों से सुरक्षा नेटवर्क से सुसज्जित करने में मदद मिलेगी।”
 
एक्‍सप्राइज के विषय में
 
एक्‍सप्राइज, 501(सी)(3) गैरलाभकारी, दुनिया की सबसे बड़ी चुनौतियों को हल करने के लिए खोजपरक प्रतिस्‍पर्धी मॉडलों की डिजाइनिंग एवं कार्यान्‍वयन में वैश्विक अग्रणी है। एक्‍सप्राइज हमारे विश्‍व द्वारा झेली जाने वाले सबसे बड़े चुनौती क्षेत्रों में 10x (vs. 10%) प्रभाव लाने के लिए फॉर्मूला के तौर पर गेमिफिकेशन, क्राउड-सोर्सिंग, इंसेंटिव प्राइज सिद्धान्‍त और बेहतरीन तकनीकों के अनूठे संयोजन का इस्‍तेमाल करती है। एक्‍सप्राइज का सिद्धान्‍त है कि – सही परिस्थितियों में, सबसे बड़ी चुनौतियों को लेकर सबसे बेहतर प्रभाव एवं समाधानों को बढ़ावा देने के लिए विविध लेंसों से तेज प्रयोग करने की आग को जलाना सबसे दक्ष एवं असरदार विधि है। सक्रिय प्रतिस्‍पर्धाओं में शामिल हैं – 30 मिलियन डॉलर की गूगल लुनर एक्‍सप्राइज, 20 मिलियन डॉलर की एनआरजी कोसिया कार्बन एक्‍सप्राइज, 15 मिलियन डॉलर की ग्‍लोबल लर्निंग एक्‍सप्राइज, 7 मिलियन डॉलर की शेल ओशन डिस्‍कवरी एक्‍सप्राइज, 7 मिलियन डॉलर की बारबरा बुश फाउंडेशन एडल्‍ट लिट्रेसी एक्‍सप्राइज, 5 मिलियन डॉलर की आइबीएम वाटसन एआइ एक्‍सप्राइज, 1.75 मिलियन डॉलर की वाटर एबन्‍डेंस एक्‍सप्राइज और 1 मिलियन डॉलर की अनु एवं नवीन जैन वुमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज। अधिक जानकारी के लिए देखें www.xprize.org/.

businesswire.com पर सोर्स विवरण देखें : http://www.businesswire.com/news/home/20171115005551/en/
 
संपर्क :
एक्‍सप्राइज
एरिक देसातनिक / जैकी वेई
310.741.4892 / 310.741.4918
eric@xprize.org / jackie.wei@xprize.org


More News from XPRIZE

08/06/2018 3:53PM

अनु और नवीन जैन ने लीफ वेयरबल्स को 1 मिलियन डॉलर वुमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज का ग्रैंड प्राइज विजेता घोषित किया

अनु और नवीन जैन ने न्यूयॉर्क सिटी में संयुक्त राष्ट्र संघ में लीफ वेयरबल्स को 1 मिलियन डॉलर अनु एवं नवीन जैन वुमेंस सेफ्‍टी एक्‍सप्राइज का ग्रैंड प्राइज विजेता घोषित ...

08/06/2018 2:36PM

Anu & Naveen Jain Announce Leaf Wearables as the Grand Prize Winner in the $1M Women’s Safety XPRIZE

Anu and Naveen Jain announced Leaf Wearables as the grand prize winner of the $1M Anu & Naveen Jain Women’s Safety XPRIZE at the United Nations in New York City.   Entrepreneurs and philanthropists, ...

10/04/2018 2:49PM

Ten Teams from Five Countries Advance to Finals of $20M NRG COSIA Carbon XPRIZE

XPRIZE, the world’s leader in designing and managing incentive competitions to solve humanity’s grand challenges, today announced the 10 teams advancing to the final round in the $20M NRG COSIA Carbon ...

Similar News

21/09/2018 6:20PM

DHL Express Announces Its 2019 Price Adjustments in India

DHL Express announces its 2019 price adjustments in India. Rate increase by an average of 6.9% effective January 1, 2019.

No Image

21/09/2018 6:20PM

India's Largest Coding Arena for Women, TechGig Geek Goddess Launches Its Fourth Edition With American Express

India’s biggest coding arena for women, TechGig Geek Goddess, launched its fourth edition in association with American Express, a globally integrated payments company. Goldman Sachs, a leading global investment bank and ...