Log In

 
Company : DIFC 
Wednesday, January 11, 2017 5:00PM IST (11:30AM GMT)
 
डीआईएफसी आधारित शिखर की भारतीय फर्मों ने जीसीसी उपस्थिति को मज़बूती देने के लिए यूएई-इंडियन एक्सिस को आगे बढ़ाया
Dubai, United Arab Emirates

चार प्रमुख भारतीय वित्त (फाइनेंस) फर्में डीआईएफसी (DIFC) में अपनी स्थिति मज़बूत कर रही है। इस तरह, इस उपमहाद्वीप से निवेश के लिए दुबई फाइनेंशियल फ्री जोन की स्थिति एक स्वाभाविक मंच के रूप में महत्व प्राप्त कर रही है।

इस स्मार्ट समाचार विज्ञप्ति में मल्टीमीडिया है। पूरी विज्ञप्ति यहां देखें : http://www.businesswire.com/news/home/20170110005672/en/

दुबई इंटरनेशनल फाइनेंशियल सेंटर (डीआईएफसी) गेट (फोटो : एमई न्यूजवायर)

कोटक महिन्द्रा बैंक और फ्रेड्रल बैंक अपने प्रतिनिधि कार्यालय की स्थिति उन्नत करके श्रेणी 1 लाइसेंस वाली कर रहे हैं और डीआईएफसी से बैंकिंग तथा पेशेवर सेवाओं की पूरी रेंज मुहैया कराएंगे।

एचडीएफसी लाइफ और एक्सिस बैंक भारत में निजी क्षेत्र के बैंकों में तीसरे सबसे बड़े बैंक हैं। ये भी अपने परिचालन मज़बूत कर रहे हैं।
 
यह कदम इस बात का भी सबूत है कि डीआईएफसी की स्थिति एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र की है जो भारतीय कारोबारों को US$7.8 खरब अमेरिकी डॉलर के मध्यपूर्व, अफ्रीका और दक्षिण एशिया (एमईएएसए) क्षेत्र से जोड़ रहा है।

डीआईएफसी में भारत के कई अग्रणी बैंक और वित्तीय संस्थाएं हैं। यह एक आर्थिक केंद्र है और यहां 1500 फर्में तथा 21,000 पेशेवर पहले से काम कर रहे हैं। इसे अभी ही सुविज्ञता और सेवाओं के बने-बनाए इकोसिस्टम के रूप में देखा जाता है। डीआईएफसी अथॉरिटी में सीईओ आरिफ अमीरी बताते हैं, “अपनी अंतरराष्ट्रीय उपस्थिति का विकास चाहने वाले भारतीय बैंकों और वित्तीय सेवा फर्मों के लिए डीआईएफसी अब भी एक प्राकृतिक प्लैटफॉर्म बना हुआ है। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नियंत्रित, साझा कानून आधार और अंग्रेजी के साथ तेजी से बढ़ते और कम सेवा प्राप्त एमईएनए क्षेत्र से बेजोड़ कनेक्टिविटी मुहैया कराता है।
  
“इस क्षेत्र में निजीकरण, आर्थिक विविधीकरण और ढांचागत विकास के लिए निजीकरण, क्रेडिट लाइन्स और लिक्विडिटी सपोर्ट के ज़रिए और तेजी से सुधरती भारतीय अर्थव्यवस्था में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश के लिए गेटवे के रूप में यहां डीआईएफसी में भारतीय बैंकों के लिए भरपूर मौके हैं।”

भारत संयुक्त अरब अमीरात का दूसरा सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर है। भारत सरकर के  आंकड़ों के मुताबिक, द्विपक्षीय व्यापार ने वित्त वर्ष 2014-15 में $59 अरब का निशान पार कर लिया है।

संयुक्त अरब अमेरिका में 2.5 मिलियन से ज्यादा भारतीय रहते हैं। अभी तक यह विदेशों में रहने वाला सबसे बड़ा देसी समूह है। 40,000 से ज्यादा भारतीय - स्वामित्व वाली फर्में संयुक्त अरब अमीरात की मिट्टी पर फल फूल रही हैं। डीआईएफसी 2024 तक 100 भारतीय फर्मों की मेज़बानी करने के लक्ष्य को हासिल करने के मार्ग पर है। इस समय कई अग्रणी भारतीय बैंक और वित्तीय संस्थान एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, भारतीय स्टेट बैंक, केनरा बैंक, आदित्य बिड़ला सन लाइफ ऐसेट मैनेजमेंट, आईएलएंडएफएस ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसिज़, आईआईएफएल प्राइवेट वेल्थ मैनेजमेंट और कोटक महिन्द्रा फाइनेंशियल सर्विसिज़ यहां से काम कर रहे हैं।

दुबई में फेड्रल बैंक के बेहतर परिचालन से तेजी से बढ़ते विदेशी ग्राहकों के आधार की सेवा करने में सहायता मिलेगी। अनुमान है कि यह आधार आठ लाख ग्राहकों का है जबकि कोटक महिन्द्रा बैंक की उपस्थिति से ऑफ शोर जमा राशि बढ़ने और ऐसेट उत्पाद पेश किए जाने की उम्मीद है।

एक्सिस बैंक अपने कारोबार के लिए महत्वपूर्ण तत्व डीआईएफसी के ग्राहक आधार से आता देख रहा है जबकि निजी क्षेत्र की अग्रणी जीवन बीमा फर्म एचडीएफसी लाइफ 2016 में इस वित्तीय जिले में परिचालन शुरू करने वाली पहली भारतीय बीमाकर्ता बनी।

*स्रोत: एमई न्यूजवायर

http://cts.businesswire.com/ct/CT?id=bwnews&sty=20170110005672r1&sid=indbw&distro=nx&lang=en
स्रोत रूपांतर businesswire.com पर देखें: http://www.businesswire.com/news/home/20170110005672/en/
 
मल्टीमीडिया उपलब्ध है: http://www.businesswire.com/news/home/20170110005672/en/
 
संपर्क :
एपीसीओ वर्ल्डवाइड
एलिजाबेथ सेन, +971-55-954-8673
डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर
esen@apcoworldwide.com

 
For News Release background on DIFC click here
 
 
 
Submit your press release
More News from DIFC

10/01/2017 7:25PM

Top DIFC-Based Indian Firms Leverage UAE-Indian Axis to Bolster GCC Presence

Four major Indian finance firms are strengthening their operations at DIFC, highlighting the Dubai financial free zone’s position as a natural platform for investment from the subcontinent.   This Smart ...

Similar News

26/05/2017 8:35PM Image

Professor Michael E. Porter Visualises Plan for a Competitive India at NCF 2017

Harvard Business School Professor and leading management thinker, Michael E. Porter delivered two keynotes at the National Competitiveness Forum. The event was organised by Institute for Competitiveness, India on May ...

No Image

26/05/2017 8:24PM Image

Michael E. Porter Hails Improving Government-business Relationship in India

Harvard Business School Professor and leading management thinker, Michael E. Porter addressed a gathering of government and industry leaders on his idea for India’s competitiveness. He was speaking at the National ...

Multimedia Gallery
Dubai International Financial Centre (DIFC) Gate (Photo: ME NewsWire)